real time web analytics
Home - Braj Vrindavan Yatra

इन स्थानों पर स्थित मंदिरों और विश्वप्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के कारण, ब्रज क्षेत्र भारत में सबसे ज्यादा चर्चित तीर्थ स्थलों में से एक है। इस परिक्रमा का महत्व भी अत्यंत उच्च है, क्योंकि इसे करने से मान्यताओं के अनुसार मनुष्य को आत्मा का मोक्ष प्राप्त होता है।

divider-free-img.png

ब्रज चौरासी कोस यात्रा भारत में मथुरा, वृंदावन, नंदगांव, गोवर्धन और बरसाना जैसी धार्मिक स्थलों को घूमने का एक प्रसिद्ध और महत्वपूर्ण मार्ग है। यह यात्रा भगवान कृष्ण के बचपन के घटनाक्रमों से जुड़ी जगहों के दर्शन के लिए जानी जाती है। यह यात्रा 84 कोस दूरी का एक दौर है, जिसमें श्रद्धालु इन स्थलों का दर्शन करते हुए अपनी आत्मा को शुद्ध करते हैं। यह यात्रा हर साल बड़े पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित की जाती है जो हिंदू धर्म के लोगों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और धार्मिक अवसर है।

raman reti vrindavan

रमण रेती

रमण रेती भी मथुरा के प्रसिद्ध स्थलों में से एक है जो श्री कृष्ण और राधा रानी के प्रेम और विरह के अनुभवों को दर्शाता है। रमण रेती वृन्दावन के पास स्थित है और इसे "रास स्थल" भी कहा जाता है। यहां पर श्री कृष्ण और राधा रानी की रासलीला का अनुभव किया जाता है जो दिव्य और आनंदमय होता है। रमण रेती में श्रद्धालुओं को राधा-कृष्ण की रासलीला का अनुभव करने के लिए विशेष दिखावे किए जाते हैं जो लोगों के मन-मन को प्रसन्न करते हैं।

श्री बांके बिहारी

श्री बांके बिहारी मंदिर वृन्दावन का सबसे प्रसिद्ध और पूज्य स्थल है। यहां पर भगवान श्री कृष्ण के एक रूप श्री बांके बिहारी जी की मूर्ति पूजनीय है। इस मंदिर की विशेषता यह है कि यहां पर भगवान की मूर्ति का वस्त्र अक्सर बदलता है जिससे भक्तों को भगवान के साथ जुड़े अनुभव का अद्भुत आनंद मिलता है। मंदिर के बाहर लंगर है जहां लाखों लोग खाने की व्यवस्था की जाती है और भगवान की कृपा और आशीर्वाद का अनुभव होता है। इस मंदिर में पूजा और अर्चना के अलावा किसी भी दिन आप भगवान के लीला-कथा का अनुभव कर सकते हैं।

prem mandir vrindavan

प्रेम मंदिर

प्रेम मंदिर मथुरा के एक प्रसिद्ध धार्मिक स्थल हैं। इस मंदिर में भगवान श्री कृष्ण और राधा रानी के प्रेम का विशेष महत्व है। मंदिर का निर्माण श्री खोड़ीछंद जी ने करवाया था और इसे प्रेम मंदिर के नाम से जाना जाता है। यहां पर भगवान के प्रेम और उनकी लीलाओं को दर्शाने वाले चित्र लगे हुए हैं जो भक्तों को अपनी प्रीति का अनुभव करने में मदद करते हैं। मंदिर के सामने एक छोटा सा तालाब है जिसे मंदिर के समीप स्थानीय लोग श्याम सरोवर के नाम से जानते हैं। यह तालाब भक्तों को अपने विचरण करने के लिए एक शांतिपूर्ण स्थान प्रदान करता है।

iskcon temple vrindavan

इस्कॉन मंदिर

इस्कॉन मंदिर भारत और विदेशों में बहुत ही प्रसिद्ध है। इस मंदिर का पूरा नाम 'इंटरनेशनल सोसायटी फॉर कृष्ण कंश्चियस सेंटर' है। यह मंदिर श्री कृष्ण को ध्यान में रखते हुए बनाया गया है और इस मंदिर का निर्माण अमेरिका के आरएचडी बाक्सी के द्वारा किया गया था। यह भगवान कृष्ण की उपासना करने वालों के लिए एक आध्यात्मिक स्थल है जो अपनी शांत वातावरण और पौष्टिक भोजन के लिए भी जाना जाता है। मंदिर के साथ-साथ इसके आसपास के क्षेत्र में भी धार्मिक और सांस्कृतिक गतिविधियों का आयोजन किया जाता है जो इस मंदिर के संचालन में बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

gokul mathura vrindavan

गोकुल

गोकुल भारत में उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में स्थित एक प्रसिद्ध छोटा सा गांव है। यह गांव हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है, जहां भगवान कृष्ण ने अपना बचपन बिताया था। गोकुल में भगवान कृष्ण के जन्म के बाद उनके नन्हे नन्हे लीला स्थलों का निर्देशांक है, जो उनके अपने साथियों के साथ अपने जीवन के एक अद्भुत अध्याय का वर्णन करते हैं। यहां आप गोपालास्तमी, जन्माष्टमी जैसी त्योहारों के दौरान भगवान कृष्ण के दर्शन कर सकते हैं और इस छोटे से गांव के माहौल में एक आध्यात्मिक और शांतिपूर्ण वातावरण का अनुभव कर सकते हैं।

nand gaon mathura vrindavan

नंदगांव

नंदगांव भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के मथुरा जिले में स्थित एक छोटा सा गांव है। यह गांव हिंदू धर्म में महत्वपूर्ण स्थानों में से एक है, जहां भगवान कृष्ण ने अपना बचपन बिताया था। नंदगांव भगवान कृष्ण के माता-पिता यशोदा और नंद के घर है, जहां भगवान कृष्ण ने उनके साथ अपना बचपन बिताया था। यह गांव भगवान कृष्ण के जन्म स्थल मथुरा से कुछ ही दूरी पर है और इसे भगवान कृष्ण के जीवन का एक महत्वपूर्ण अंग माना जाता है। नंदगांव में आप भगवान कृष्ण के नन्हे-नन्हे लीला स्थलों के दर्शन कर सकते हैं और इस छोटे से गांव में आपको आध्यात्मिकता और शांतिपूर्ण वातावरण का अनुभव होगा।

divider-free-img.png

श्री वृन्दावन धाम यात्रा हिंदू धर्म के लिए एक प्रतिष्ठित और महत्वपूर्ण यात्रा है। यह यात्रा भगवान कृष्ण के बाल व युवा वय के लीलाओं से जुड़े स्थलों को दर्शाने के लिए की जाती है। इस यात्रा में प्रमुख स्थलों में से कुछ हैं श्री बांके बिहारी मंदिर, श्री कृष्ण बलराम मंदिर, श्री राधा रमण मंदिर, इस्कॉन मंदिर, श्री निधिवन, श्री गोविंददेव मंदिर, श्री मठुराधीश मंदिर, बनके बिहारी जी का चौराहा और श्री रंगनाथ मंदिर आदि। इन स्थलों पर भक्त दर्शन और पूजा के लिए आते हैं। इस यात्रा के दौरान आप वृन्दावन के सुंदर वातावरण में घूम सकते हैं और भक्ति और आध्यात्मिकता के अनुभव से लाभान्वित हो सकते हैं।

संपूर्ण वृंदावन परिक्रमा हिंदू धर्म के लिए बहुत ही पवित्र यात्रा है। यह परिक्रमा श्री कृष्ण के लीलाओं से जुड़े सभी महत्वपूर्ण स्थलों का दर्शन कराती है। संपूर्ण वृंदावन परिक्रमा में प्रमुख स्थलों में से कुछ हैं मथुरा, गोवर्धन, बरसाना, नंदगांव, गोकुल, श्री बांके बिहारी मंदिर, श्री निधिवन, श्री कृष्ण बलराम मंदिर, श्री राधा रमण मंदिर, श्री मठुराधीश मंदिर, श्री गोविंददेव मंदिर, श्री रंगनाथ मंदिर आदि।

इस परिक्रमा के दौरान भक्त यात्रा के आनंद का लुफ्त उठाते हुए इन स्थलों पर भगवान कृष्ण की लीलाओं और कथाओं के बारे में सुनते हुए उनका दर्शन भी करते हैं। संपूर्ण वृंदावन परिक्रमा करने से भक्त को आध्यात्मिक उन्नति की प्राप्ति होती है।

0 +
स्थान

इन स्थानों पर स्थित मंदिरों और विश्वप्रसिद्ध धार्मिक स्थलों के कारण, ब्रज क्षेत्र भारत में सबसे ज्यादा चर्चित तीर्थ स्थलों में से एक है

0 +
दिनों में पूरी होती है,

वृन्दावन में, श्री कृष्ण की बाल लीलाएं हुई थीं। यहां पर श्री बांके बिहारी मंदिर, श्री राधा वल्लभ मंदिर, श्री निधिवन कुँज, श्री बनके बिहारी जीव महल आदि मंदिर हैं।

0
ब्रज चौरासी कोस यात्रा

इस यात्रा की शुरुआत मथुरा से होती है, जहां पर श्री कृष्ण जन्मे थे। यहां पर श्री कृष्ण जन्मस्थान, बांके बिहारी मंदिर, इस्कॉन मंदिर और विश्राम घाट जैसे प्रमुख धार्मिक स्थल हैं। यहां से यात्रा को आगे बढ़ाते हुए, वृन्दावन पहुंचा जाता है।

मथुरा उत्तर प्रदेश राज्य में स्थित है और यह देश भर से लाखों श्रद्धालुओं को खींचता है। मथुरा जाने के लिए आप दिल्ली, आगरा या वाराणसी से ट्रेन, बस या टैक्सी से यात्रा कर सकते हैं।

मथुरा में ठहरने के लिए कई होटल और धर्मशालाएं हैं जो आपके बजट के अनुसार हो सकते हैं। कुल खर्च आपकी यात्रा की अवधि और आपकी व्यक्तिगत वस्तुस्थिति पर निर्भर करेगा।

मथुरा में घूमने के लिए कई धार्मिक स्थल हैं जैसे कि श्री कृष्ण जन्मभूमि मंदिर, श्री द्वारकाधीश मंदिर, इस्कॉन मंदिर, बांके बिहारी मंदिर, निधिवन मंदिर, श्री गोपीनाथ मंदिर आदि। इन स्थलों को दर्शन करने के लिए आप टैक्सी, बस या ऑटो का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इसके अलावा, मथुरा में विभिन्न बाजार हैं जहां से आप आसानी से स्थानीय वस्तुओं, खाद्य सामग्री और सौवेनिर्स खरीद सकते हैं। इस तरह की यात्रा भगवान कृष्ण के भक्तों के लिए अद्भुत अनुभव का साधन है।

हमारा अनुभव बहुत अच्छा रहा। हमने मथुरा में बहुत से ऐतिहासिक स्थानों का दौरा किया जैसे कि कृष्ण जन्मभूमि, बांके बिहारी मंदिर, प्रेम मंदिर, इस्कॉन मंदिर आदि। इन स्थानों का भ्रमण करने से हमने अपने आस-पास के इस धर्मगुरु के अद्भुत संस्कृति, विरासत और विचारों के बारे में जानकारी प्राप्त की।
Shraddha Sharma
Yogini
हमने मथुरा के अन्य स्थानों जैसे कि वृन्दावन, नंदगांव, गोकुल, बरसाना आदि का भी दौरा किया। हमें वहां घूमने में बहुत मजा आया और हमने इन स्थानों के साथ-साथ उनकी अद्भुत वातावरण और स्थानों के साथ जुड़े महत्वपूर्ण कथाओं का भी अनुभव किया।
Krishna Kant Tiwari
Krishna Bhakt
हमारे तीन दिनों के मथुरा भ्रमण के दौरान हमने अपने खाने का भी बहुत सुन्दर और स्वादिष्ट अनुभव किया। वहां के प्रसिद्ध पकवान जैसे कि मठुरा के पेड़े, मठुरा का लड्डू आदि हमें बहुत पसंद आए। अंत में, हम बहुत खुश हुए कि हमने मथुरा का भ्रमण किय
Nirmala Chaudhary
Dasi

Join Our Whatsapp Group Bhakti Marg Vrindavan